करोड़ों में होती है कमाई , हर साल रेलवे हो रहा मालामाल

करोड़ों में होती है कमाई , हर साल रेलवे हो रहा मालामाल

हमारे देश में हर दिन लाखों लोग रेलवे से यात्रा करते हैं | लेकिन क्या आपको पता है , अक्सर लोग यात्रा के लिए टिकट तो करा लेते है पर तत्काल में उसे रद्द कर देते हैं , वही कुछ लोगों का वेटिंग टिकट कन्फर्म नहीं होता तो वो अपने आप ही रद्द हो जाता है |

दोनों ही मामलों में रेलवे यात्रियों से कैंसलेशन चार्ज लेता है | इस चार्ज से रेलवे ने 9 हजार करोड़ से अधिक की कमाई कर ली है | ये जानकारी center for railway information system ने दी हैं |

center for railway information system की जानकारी के अनुसार रेलवे ने 2017 – 2020 के दौरान 9,000 करोड़ रूपए की कमाई की है | center for railway information system ने कहा है की january 2017 – 31 january 2020 की तीन साल की अवधि के दौरान साढ़े 9 करोड़ यात्रिओं ने वेटिंग लिस्ट वाली टिकटों को रद्द ही नहीं कराया |

इससे रेलवे को 4,335 करोड़ रूपए की इनकम हुई | इसी अवधि में रेलवे ने कन्फर्म टिकटों को रद्द करने के शुल्क से 4,684 करोड़ रूपए से अधिक की कमाई की |इन दोनों मामलों में सबसे ज्यादा कमाई स्लीपर कैटेगरी के टिकटों से हुई है | उसके बाद थर्ड AC टिकटों की कमाई हुई | वैसे इंटरनेट और काउंटरों पर जाकर टिकट खरीदने वाले की संख्या में काफी अंतर है |

तीन साल की में 145 करोड़ से अधिक लोगों ने ऑनलाइन टिकट जबकि 74 करोड़ लोगों ने रेलवे काउंटरों पर जाकर टिकट लिए | रेलवे ने दिल्ली मंडल पर दिवंग्जन यात्रिओं के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और सूचना सुविधा की शुरुआत की है |

Leave a Reply

15 + 13 =