कई बिमारियों को जन्म दे सकता है बढ़ा हुआ यूरिक एसिड

कई बिमारियों को जन्म दे सकता है बढ़ा हुआ यूरिक एसिड

यूरिक एसिड in Hindi

यूरिक एसिड एक ऐसा केमिकल है जो बॉडी मे तब बनता है जब बॉडी प्यूरिन नाम के केमिकल को छोटे-छोटे टुकड़ो मे तोड़ता है | प्यूरिन केमिकल हमारे शरीर मे भी बनते है और कुछ खाद्य पदार्थो मे भी होते है |
रक्त मे जब यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तब उसे hyperuricemia कहते है |

बढ़ा हुआ uric acid शरीर मे कई तरह के बिमारियों को पैदा करता है , जैसे आर्थरइटिस का भयानक रूप गाउट , हृदय रोग , शुगर या किडनी |

शरीर मे यूरिक एसिड के स्तर का पता आसानी से लगाया जा सकता है ब्लड टेस्ट के द्वारा |
यूरिक एसिड खाये गए भोजन और शरीर की कोशिकाओं के टूटने की प्राकृतिक प्रक्रिया से बनता है |
किडनी रक्त मे से अधिकतर यूरिक एसिड को साफ करती है जो पेशाब और मल के जरिये शरीर से बाहर हो जाता है परन्तु यूरिक एसिड के अधिक बनने के कारन किडनी रक्त से इसे हटा नहीं पाती जिसके कारन यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है |

यूरिक एसिड को बढ़ाने वाले कारको मे आहार मे प्युरींस की अधिक मात्रा, मोटापा, थायरॉइड , मेटाबोलिज्म , अधिक शराब का सेवन होता है | कुछ खान-पान को ध्यान मे रख कर यूरिक एसिड को control किया जा सकता है | ऐसी कुछ प्राकृतिक चीजें हमें अपने किचन मे ही मिल जाएंगी |

सेब का सिरका – सेब का सिरका शरीर मे मौजूद यूरिक एसिड को टुकड़ो मे तोड़कर शरीर को प्राकृतिक तरीके से क्लीन्जिग करता है | एक गिलास पानी मे एक स्पून सेब का सिरका मिला कर पीना चाहिए |

हाई फाइबर फ़ूड – फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थो का सेवन इसके लिए फायदेमंद होता है | इससे यूरिक एसिड के स्तर को अवसोसित करने और शरीर से उसे बाहर निकलने मे मदद मिलती है | सेब , संतरे , स्ट्रॉबेरी , साबुत अनाज फाइबर से भरपूर होते है |

गेहू का ज्वार – ब्लड मे अल्कालिनिटी को फिर से वापस लाने मे गेहू का ज्वार मदद करता है | ज्वार विटामिन-c , क्लोरोफिल से भरपूर होता है | नींबू के रस के साथ 2 स्पून गेहू का ज्वार मिलाकर पीना चाहिए |

नींबू – नींबू मे मौज़ूद साइट्रिक एसिड शरीर मे यूरिक एसिड के लेवल को बढ़ने से रोकता है | सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में नींबू का रस मिला कर पियें | विटामिन-c युक्त फलों का सेवन करेंगे तो आपका यूरिक एसिड लेवल संतुलित रहेगा |

पानी – पानी से बेहतर कुछ भी नहीं होता | रोज ज्यादा से ज्यादा पानी पियें | यह यूरिक एसिड को पतला कर इससे किडनी शरीर से पेशाब के जरिये बाहर निकलने मे मदद करता है |

अजवाइन – अजवाइन का सेवन करके व् यूरिक एसिड के स्तर को काम कर सकते है | इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है , जो अतिरिक्त यूरिक एसिड को बाहर निकालने मे मदद करता है |

प्यूरिन का कम सेवन – मीट , मछली और चिकन न खाएं | प्यूरिन ज्यादा मात्रा मे जानवरो के प्रोटीन मे पाया जाता है | फलियां, मशरूम , बीन्स मे भी प्यूरिन की मात्रा ज्यादा होती है |

Leave a Reply

19 + eleven =